निजी विद्यालयों को हल्के में न ले सरकार!, JISA के प्रदेश सचिव नीरज कुमार ने की विशेष आर्थिक पैकेज की मांग

झारखंड में इंडिपेंडेंट स्कूल अलायंस के नेतृत्व में प्रदेश के हजारों शिक्षक 30 मई को अपने अपने घरों पर सामूहिक उपवास पर बैठने का फैसला किया है। ऐसा करके वो राज्य सरकार का ध्यान आकर्षित करने का प्रयास करेंगे। मंगलवार दिनांक 25 मई 2021 को JISA के केंद्रीय अध्यक्ष अविनाश वर्मा के नेतृत्व में ऑनलाइन बैठक आयोजित की गयी जिसमें JISA के वरीय उपाध्यक्ष प्रवीण कुमार दुबे (धनबाद), उपाध्यक्ष विपिन कुमार सिन्हा (हजारीबाग), उपाध्यक्ष दिनेश कुमार साहू (गिरिडीह), महासचिव सर्वेश कुमार दुबे (बोकारो), केंद्रीय कोषाध्यक्ष जीवन कुमार (रामगढ़), प्रदेश सचिव नीरज कुमार (चतरा), मुमताज आलम अध्यक्ष निजी विद्यालय संघ (चतरा) तथा अनेकों निजी विद्यालय संचालक उपस्थित हुए।

इस बैठक में पिछले 15 महीने से वैश्विक महामारी कोरोना के कारण बंद पड़े निजी विद्यालयों के संचालकों, शिक्षकों और गैर शिक्षण कर्मियों की दयनीय स्थिति पर चर्चा की गयी तथा इस विपरीत परिस्थिति में सरकार से निजी विद्यालयों के लिए विशेष आर्थिक पैकेज की मांग की गयी। सरकार के ध्यानाकर्षण के लिए सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि JISA के नेतृत्व में झारखंड के हजारों शिक्षक अपने-अपने घरों में सामूहिक उपवास करेंगे तथा उसकी ऑनलाइन तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा करेंगे और सरकार का ध्यान आकर्षित करवायेंगे।

निजी विद्यालय संघ चतरा झारखंड के अध्यक्ष मो. मुमताज आलम ने संपूर्ण चतरा जिले के सभी निजी विद्यालय के संचालकों तथा शिक्षकों से अधिक से अधिक संख्या में भाग लेकर इस कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील की है।

JISA झारखंड इंडिपेंडेंट स्कूल अलायंस बहुत जल्द लॉकडाउन के पश्चात अपने प्रतिनिधि मंडल द्वारा सरकार को निजी विद्यालयों की दयनीय स्थिति एवं आर्थिक मदद की मांग का ज्ञापन भी सौंपेगा।